Saturday, April 20, 2024
Secondary Education

हाईस्कूल व इंटरमीडिएट परीक्षा में कक्ष निरीक्षकों की आनलाइन लगेगी ड्यूटी, शिक्षकों को तैनाती से पांच किमी में ही आवंटित होंगे परीक्षा केंद्र

यूपी बोर्ड की हाईस्कूल व इंटरमीडिएट परीक्षा 2022 में नकल पर प्रभावी अंकुश लगाने के लिए केंद्रों के परीक्षा कक्ष में शिक्षक व कार्मिकों की ड्यूटी अब आनलाइन लगाई जाएगी, इसमें जुगाड़ करके चयनित विद्यालय में शिक्षक कक्ष निरीक्षक नहीं बन सकेंगे। वेबसाइट पर सभी का डाटा लगभग तैयार हो गया है, जल्द ही उसे जारी किया जाएगा।

प्रदेश में 8,373 माध्यमिक विद्यालयों को परीक्षा केंद्र बनाया गया है, वहां 51 लाख 92 हजार 689 परीक्षार्थियों को 24 मार्च से इम्तिहान देना है। बोर्ड ने पहली बार कक्ष निरीक्षक व कार्मिकों की ड्यूटी आनलाइन लगाने की तैयारी की है। आम तौर पर परीक्षा केंद्रों के आसपास के शिक्षक मनचाहे विद्यालयों में ड्यूटी करते रहे हैं, कई बार यह भी सामने आया कि शिक्षक भी अवैध गतिविधियों में लिप्त हो जाते थे। इसे रोकने के लिए आनलाइन व्यवस्था की गई है। जिन शिक्षकों की ड्यूटी लगाई जाएगी उनमें पहले राजकीय फिर अशासकीय सहायताप्राप्त और सबसे अंत में वित्तविहीन कालेजों के शिक्षकों की ड्यूटी लगेगी। इसके बाद प्राथमिक विद्यालयों के शिक्षकों को मौका दिया जाएगा। जिलों में तैनात शिक्षकों का ब्योरा मंगाने के बाद उनका ड्यूटी रोस्टर तय हो रहा है।
पांच किलोमीटर की परिधि में पांच दिन रहेगी ड्यूटी
शिक्षक जिस विद्यालय में तैनात है वहां से पांच किलोमीटर के दायरे में स्थित परीक्षा केंद्रों पर कक्ष निरीक्षक बनना होगा। शिक्षक को एक केंद्र पर पांच दिन दायित्व निभाना होगा, फिर दूसरे विद्यालय में तय तारीखों में पहुंचकर कक्ष निरीक्षक या अन्य कार्य पूरा करना होगा। इसके लिए वेबसाइट बन रही है उसका बोर्ड की वेबसाइट पर लिंक देने के साथ ही जिलों को भेजा जाएगा, ताकि शिक्षकों को सहूलियत रहे।
परीक्षा केंद्र से एक किलोमीटर की परिधि में फोटोकापी व स्कैनिंग प्रतिबंधित
यूपी बोर्ड की हाईस्कूल व इंटर परीक्षा के दौरान केंद्रों के आसपास 100 मीटर की परिधि में और जरूरत पड़ने पर उसके बाहर भी धारा-144 लागू की जाए। परीक्षा केंद्रों से न्यूनतम एक किलोमीटर की परिधि में फोटो कापियर व स्कैनर का संचालन परीक्षा अवधि में पूरी तरह से प्रतिबंधित रहेगा। साथ ही परीक्षा कार्य से जुड़े केंद्र व्यवस्थापकों व शिक्षकों के साथ धमकी भरा व्यवहार भी अपराध माना जाएगा। ये निर्देश मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र ने मंडलायुक्तों, परिक्षेत्रीय उप पुलिस महानिरीक्षक, पुलिस आयुक्त, जिलाधिकारी, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षकों को दिए हैं। उन्होंने माध्यमिक शिक्षा परिषद की बोर्ड परीक्षाओं में नकल की रोकथाम करके शांतिपूर्ण ढंग से कराए जाने के निर्देश दिए हैं। बालिकाओं की चेकिंग केवल महिला स्टाफ ही कर सकेंगी। कोविड 19 के प्रोटोकाल का अक्षरश: पालन करते हुए परीक्षा केंद्र को पूर्णतया सैनिटाइज कराया जाएगा।Newer PostOlder PostHome

admin

Up Secondary Education Employee ,Who is working to permotion of education

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *