Saturday, April 13, 2024
Secondary Education

NEET की परीक्षा देने वालों के काम की खबर

NEET की परीक्षा : नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) ने आगामी वर्ष के लिए एग्जाम कैलेंडर 2024 जारी (NTA Exam Calendar 2024) कर दिया है. जिसके मुताबिक नीट 2024 यानी नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट का आयोजन 5 मई को किया जाएगा. फिलहाल नीट एस्पिरेंट्स (NEET Aspirants)  इस परीक्षा की तैयारियों में जुटे हुए हैं. अगर आप पहली बार नीट की परीक्षा दे रहे हैं, तो यह खबर आपके काम की है. अगर आप नीट में अपने पहले ही प्रयास में सफल होना चाहते हैं तो इन विषयों पर फोकस करना बेहद जरूरी है. मेडिकल प्रवेश परीक्षा में उत्तीर्ण होने के लिए स्टूडेंट का सबसे पहले नीट यूजी सिलेबस का गहन नॉलेज होना चाहिए. नीट परीक्षा पास करने का मुख्य उद्देश्य स्टूडेंट का डॉक्टर बनना या एमबीबीएस की डिग्री हासिल करना है. ऐसे में बायोलॉजी विषय पर स्टूडेंट की अच्छी पकड़ का होना बेहद जरूरी है. बायोलॉजी के साथ-साथ केमिस्ट्री विषय में भी अच्छा स्कोरिंग की जा सकती है. इसके लिए नीट यूजी के केमिस्ट्री सिलेबस को अच्छी तरह पढ़ें. केमिस्ट्री में महत्वपूर्ण लगने वाले टॉपिक पर छोटे नोट्स बनाएं और उन्हें बार-बार दोहराते रहें. 

NEET

केमिस्ट्री के तीन पार्ट होते हैं- फिजिकल केमिस्ट्री, आर्गेनिक केमिस्ट्री और इनआर्गेनिक केमिस्ट्री. फिजिकल केमिस्ट्री में केमिस्ट्री की मूल अवधारणाएं-स्टोइकोमेट्री, समकक्षों की अवधारणाएं, मोल अवधारणा और एटॉमिक, मॉलिक्यूलस मास शामिल हैं. पदार्थ की अवस्थाएं-गैस, तरह पदार्थ और ठोस पदार्थों के गुणों के साथ इनके इंटर मॉलिक्यूलर फोर्स की अवधारणा पर अच्छी पकड़ होनी चाहिए. थर्मोडायनामिक्स और थर्मोकेमिस्ट्री के सभी टॉपिक को ध्यान से पढ़ें. 

परिचय

राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (नीट) भारत में मेडिकल कॉलेजों में प्रवेश के लिए आयोजित होने वाली एक राष्ट्रीय स्तर की परीक्षा है। यह परीक्षा हर साल लाखों छात्रों द्वारा दी जाती है।

नीट की परीक्षा देने वाले छात्रों के काम की खबरें अक्सर मीडिया में दिखाई देती हैं। इन खबरों में छात्रों की सफलता, कठिन परिश्रम और प्रेरणादायक कहानियां शामिल होती हैं।

हाल की खबरें

हाल ही में, नीट की परीक्षा देने वाले कुछ छात्रों की खबरें मीडिया में छाई रहीं। इनमें से एक छात्र है यमुना चक्रधारी, जो छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले की रहने वाली है। यमुना एक ईंट भट्ठा में काम करती है और उसने नीट की परीक्षा पास कर अपना सपना पूरा किया है।

दूसरा छात्र है उमर अहमद गनी, जो जम्मू-कश्मीर के दक्षिणी कश्मीर जिले के जागीगाम गांव का रहने वाला है। उमर एक मजदूर है और उसने नीट की परीक्षा पास कर अपने परिवार का नाम रोशन किया है।

इनके अलावा, नीट की परीक्षा देने वाले कई अन्य छात्रों की खबरें भी मीडिया में आई हैं। इनमें से कुछ छात्र आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों से आते हैं और उन्होंने कड़ी मेहनत करके नीट की परीक्षा पास की है।

https://upsecondaryteachers.com/%e0%a4%a8%e0%a5%80%e0%a4%9f-%e0%a4%95%e0%a5%80-%e0%a4%aa%e0%a4%b0%e0%a5%80%e0%a4%95%e0%a5%8d%e0%a4%b7%e0%a4%be-%e0%a4%a6%e0%a5%87%e0%a4%a8%e0%a5%87-%e0%a4%b5%e0%a4%be%e0%a4%b2%e0%a5%8b%e0%a4%82/

सकारात्मक प्रभाव

नीट की परीक्षा देने वाले छात्रों की खबरें समाज पर सकारात्मक प्रभाव डालती हैं। ये खबरें छात्रों को प्रेरित करती हैं और उन्हें अपने सपनों को पूरा करने के लिए प्रोत्साहित करती हैं।

इन खबरों से समाज में मेहनत और लगन की भावना को भी बढ़ावा मिलता है। ये खबरें दिखाती हैं कि कड़ी मेहनत और लगन से कोई भी लक्ष्य हासिल किया जा सकता है।

निष्कर्ष

नीट की परीक्षा देने वाले छात्रों की खबरें समाज के लिए एक महत्वपूर्ण संदेश देती हैं। ये खबरें दिखाती हैं कि शिक्षा और मेहनत के दम पर कोई भी सफल हो सकता है।

इन खबरों से समाज में सकारात्मक बदलाव लाने की उम्मीद है।

admin

Up Secondary Education Employee ,Who is working to permotion of education

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *