Saturday, February 24, 2024
Secondary Education

30 निजी विश्वविद्यालयों को मंजूरी

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार सूबे में उच्च शिक्षा का दायरा तेजी से बढ़ा रही है। इसी के तहत निजी क्षेत्र के 10 से ज्यादा नए विश्वविद्यालयों को सरकार जल्द मंजूरी देगी। प्रदेश को 51 नए राजकीय महाविद्यालय भी मिलेंगे। बुधवार को लोक भवन में मीडिया से मुखातिब उप मुख्यमंत्री डॉ.दिनेश शर्मा ने बताया कि राज्य सरकार ने निजी क्षेत्र में 30 नए विश्वविद्यालयों की स्थापना के लिए प्रायोजक संस्थाओं को आशय पत्र जारी किए हैं, जिसमें 10 से ज्यादा विश्वविद्यालयों ने स्थापना संबंधी औपचारिकताएं पूरी कर ली हैं, जिन्हें जल्द मंजूरी दी जाएगी।

उत्तर प्रदेश में अभी 27 निजी विश्वविद्यालय संचालित हैं। वहीं राज्य सरकार की ओर से अलीगढ़, सहारनपुर और आजमगढ़ में राज्य विश्वविद्यालय की स्थापना की जा रही है। इन तीन विश्वविद्यालयों के क्रियाशील होने पर प्रदेश में राज्य विश्वविद्यालयों की संख्या 19 हो जाएगी। उप मुख्यमंत्री डॉ.दिनेश शर्मा ने बताया कि सूबे में 50 नए राजकीय महाविद्यालयों के अलावा एक राजकीय महाविद्यालय में विज्ञान और वाणिज्य संकाय की स्थापना की जा रही है।

सात आकांक्षी जिलों के सरकारी कॉलेजों में प्रीलोडेड टैबलेट : फतेहपुर, चित्रकूट, चंदौली, सोनभद्र, श्रावस्ती, सिद्वार्थनगर और बलरामपुर के 18 राजकीय महाविद्यालयों के पुस्तकालयों में प्रीलोडेड टैबलेट उपलब्ध कराने की योजना प्रस्तावित है, जिससे दूरस्थ अंचलों के छात्रों को भी इंटरनेट पर उपलब्ध शिक्षण सामग्री सुलभ हो सकेगी। प्रत्येक महाविद्यालय में आठ-नौ प्री-लोडेड टैबलेट उपलब्ध कराए जाएंगे।

-लर्निंग पार्क बनेंगे : तहसील/ब्लाक स्तर पर संचालित 120 राजकीय महाविद्यालयों में ई-लर्निंग पार्क स्थापित करते हुए वाईफाई व इंटरनेट एक्सेस की सुविधा प्रदान करके ग्रामीण पृष्ठभूमि के छात्रों को आनलाइन शिक्षण सामग्री उपलब्ध करायी जाएगी।

नेशनल डिजिटल लाइब्रेरी संग पार्टनरशिप : उप मुख्यमंत्री डॉ.दिनेश शर्मा ने बताया कि आइआइटी खड़गपुर की नेशनल डिजिटल लाइब्रेरी ऑफ इंडिया ने उप्र उच्च शिक्षा डिजिटल लाइब्रेरी के साथ पार्टनरशिप के लिए अनुरोध किया है, जिसके लिए उच्च शिक्षा विभाग ने सहमति दे दी है।

संवरेगी सांस्कृतिक धरोहर : प्रदेश की सांस्कृतिक धरोहर, परंपरा व लोक कलाओं को प्रोत्साहन देने के लिए आगरा के डॉ.भीमराव आंबेडकर विश्वविद्यालय में सेंटर ऑफ एक्सीलेंस स्थापित किया जाएगा।

पूर्वांचल विवि में बनेगा भाषा का सेंटर ऑफ एक्सीलेंस : वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय, जौनपुर में भाषा का सेंटर ऑफ एक्सीलेंस स्थापित करने के लिए जल्द ही शासनादेश जारी किया जाएगा। उच्च शिक्षा के क्षेत्र में योगी सरकार की पिछले चार वर्षों की उपलब्धियां गिनाते हुए उप मुख्यमंत्री डॉ.दिनेश शर्मा ने कहा कि नवचयनित शिक्षकों की तैनाती की प्रक्रिया को ऑनलाइन किया गया है। कॉलेजों को एनओसी देने की प्रक्रिया ऑनलाइन कर दी गई है। अगले सत्र से संबद्धता देने की प्रक्रिया भी ऑनलाइन कर दी जाएगी। कोरोना काल में छात्रों के लिए 73,468 से भी अधिक ई-कंटेंट निश्शुल्क उपलब्ध कराये गए हैं।

admin

Up Secondary Education Employee ,Who is working to permotion of education

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *