Saturday, February 24, 2024
Secondary Education

यूजी व पीजी में अंतिम वर्ष की होंगी परीक्षाएं अन्य को आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर किया जाएगा प्रमोट

लखनऊ (एसएनबी)। कोविड़–१९ के दृष्टिगत लखनऊ विश्वविद्यालय एवं सहयुक्त महाविद्यालयों के स्नातक व परास्नातक के विद्यार्थियों के शैक्षिक सत्र २०२०–२१ के अंतिम वर्ष की वार्षिक/सेमेस्टर परीक्षाएं होंगी। इसी प्रकार बीएड़‚ एमएड़ प्रथम व चतुर्थ सेमेस्टर‚ बीईएलएड़ प्रथम व अंतिम वर्ष‚ बीपीएड़ व एमपीएड़ प्रथम एवं चतुर्थ सेमेस्टर की परीक्षाएं भी होंगी। इसके अतिरिक्त स्नातक‚ परास्नातक एवं डि़प्लोमा आदि कोर्सों के बाकी सेमेस्टर के विद्यार्थियों को आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर प्रमोट कर दिया जाएगा। यह निर्णय बृहस्पति को विवि द्वारा गठित समिति की संस्तुति पर लिया गया है। उक्त जानकारी देते हुए विवि के परीक्षा नियंत्रक प्रो. ए.एम. सक्सेना ने बताया कि कला‚ वाणिज्य‚ विज्ञान‚ विधि‚ इंजीनियरिंग‚ आईएमएस एवं ललित कला संकाय की सेमेस्टर/वार्षिक परीक्षाओं का आयोजन किया जाएगा॥। जल्द ही अंतिम वर्ष की वार्षिक/सेमेस्टर परीक्षाओं की समय सारिणी जल्द जारी कर दी जाएगी। परीक्षाएं कम समय में आयोजित की जाएं‚ इसके लिए विवि ने प्रश्नपत्रों को मर्ज कर दिया है अर्थात चार ग्रुप की परीक्षाएं दो ग्रुप में ही करा दी जाएंगी। सभी परीक्षाएं मल्टिपल च्वाइस क्वेश्चन (एमसीक्यू) पैटर्न पर पर होंगी तथा प्रत्येक प्रश्न दो अंकों का होगा। स्नातक‚ परास्नातक एवं डि़प्लोमा आदि पाठ¬क्रमों के प्रथम सेमेस्टर के विद्यार्थियों को आंतरिक मूल्यांकन के अंको के आधार पर द्वितीय सेमेस्टर में प्रोन्नति किया जाएगा। इसके लिए समस्त विभागाध्यक्षों एवं महाविद्यालयों के प्राचार्यों से कहा गया है कि वे आंतरिक मूल्यांकन के अंक प्राथमिकता के आधार पर पोर्टल पर अपलोड़ करें (जिन्होंने पहले ही अपलोड कर दिया है‚ उन्हें पुनः अपलोड़ करने की आवश्यकता नहीं)। ऐसे में जिन छात्रों ने प्रथम सेमेस्टर की आंतरिक परीक्षा किसी कारणवश (कोविड़–१९ के कारण) नहीं दी है‚ तो उनकी परीक्षा पुनः कराकर उसके अंक अपलोड़ कर दिए जाएं। स्नातक‚ परास्नातक व डि़प्लोमा आदि पाठ¬क्रमों के द्वितीय सेमेस्टर (जून २०२१) के विद्यार्थियों को आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर तृतीय सेमेस्टर में प्रोन्नत किया जाएगा। इसके लिए समस्त विभागाध्यक्षों व महाविद्यालयों के प्राचार्यों से कहा गया है कि वे आंतरिक मूल्यांकन की परीक्षाएं ऑनलाइन कराकर उसके अंक प्राथमिकता के आधार पर पोर्टल पर अपलोड़ करें। स्नातक परीक्षा (सेमेस्टर प्रणाली) चतुर्थ सेमेस्टर (जून २०२१) के विद्यार्थियों को उनके तीसरे सेमेस्टर के प्राप्तांकों के आधार पर अंक निकालकर चतुर्थ सेमेस्टर का परीक्षाफल तैयार कर पांचवें सेमेस्टर में प्रोन्नत किया जाएगा‚चतुर्थ सेमेस्टर के आंतरिक मूल्यांकन की परीक्षा आर्नलाइन/आफलाइन करवाकर विभागाध्यक्ष/महाविद्यालयों के प्राचार्य प्राथमिकता के आधार पर पोर्टल पर अपलोड़ करें। स्नातक एवं परास्नातक कक्षाओं के विद्यार्थियों का प्रथम एवं द्वितीय सेमेस्टर (जिनकी दिसम्बर २०२० एवं जून २०२१ की परीक्षाएं नहीं हुई हैं) का परीक्षाफल उनके आंतरिक अंकों के आधार पर तैयार करके द्वितीय से तृतीय सेमेस्टर में चतुर्थ से पांचवे में‚ छठे से सातवें में तथा आठवें से नवें सेमेस्टर में प्रोन्नत किया जाएगा। एनसीटीई के नियमों के दृष्टिगत बीएड़‚ एमएड़ प्रथम सेमेस्टर एवं अंतिम (चतुर्थ सेमेस्टर) तथा बीईएलएड़ प्रथम व अंतिम वर्ष‚ बीपीएड़ एवं एमपीएड़ प्रथम व अंतिम (चतुर्थ सेमेस्टर) की परीक्षाएं एमसीक्यू प्रणाली से करायी जाएंगी॥।

admin

Up Secondary Education Employee ,Who is working to permotion of education

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *