Saturday, April 13, 2024
Secondary Education

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने गुरुवार को यूपीटीईटी (प्राथमिक स्तर) परीक्षा 2021 में प्रमाण पत्र जारी करने पर रोक लगा दी

न्यायमूर्ति सिद्धार्थ ने यह आदेश प्रतीक मिश्रा और 4 अन्य बनाम यूपी राज्य और अन्य के मामले में पारित किया है।

याचिका में कहा गया है कि राजस्थान उच्च न्यायालय द्वारा दिनांक 25.11.2021 को प्राथमिक विद्यालयों (कक्षा I से V) में सहायक शिक्षक के पद पर नियुक्ति के लिए बी.एड. डिग्री धारकों को अपात्र घोषित किया गया है, इसलिए ऐसे उमीदवारो का उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (प्राथमिक स्तर), 2021, जिसकी परीक्षा 23.01.2022 को आयोजित की गयी थी, का परिणाम ना घोषित किया जाए।

एनसीटीई द्वारा दिनांक 28.06.2018 की अधिसूचना के आधार पर, बी.एड. उम्मीदवार, जो पहले प्राथमिक विद्यालयों (कक्षा I से V) में सहायक शिक्षक के पद पर नियुक्ति के लिए अपात्र थे, उन्हें “पात्रता प्राप्त करने के अधीन पात्र बनाया गया था।

इस अधिसूचना दिनांक 28.06.2018 को राजस्थान उच्च न्यायालय के समक्ष राजेंद्र सिंह छोटिया और अन्य बनाम नेशनल काउंसिल फॉर टीचर्स एजुकेशन एंड अन्य (डीबी सिविल रिट याचिका संख्या 1853/2021), में चुनौती दी गई थी।

राजस्थान उच्च न्यायालय ने अपने निर्णय दिनांक 25.11.2021, से अधिसूचना दिनांक 28.06.2018 को रद्द कर दिया और माना कि बी.एड डिग्री धारक प्राथमिक विद्यालय स्तर (कक्षा I से V) पर शिक्षक के पद पर नियुक्ति के लिए पात्र नहीं हो सकते।

यह प्रस्तुत किया गया था कि यूपी राज्य में, राज्य सरकार ने राजस्थान उच्च न्यायालय के फैसले पर विचार नहीं किया है और यूपीटीईटी की परीक्षा के परिणाम 25.02.2022 को घोषित किए गए हैं और चयनित उम्मीदवारों को प्रमाण पत्र वितरित किए जाने वाले हैं।

प्रतिवादी की ओर से दायर जवाबी हलफनामे मे, यह स्वीकार किया गया है कि राजस्थान उच्च न्यायालय द्वारा दिनांक 26.06.2018 की अधिसूचना को रद्द कर दिया गया है और यदि उपरोक्त निर्णय के अनुसरण में कोई अधिसूचना की जाती है तो उसका अनुपालन किया जाएगा।

याचिकाकर्ता के वकील ने कहा कि उचित अधिसूचना जारी करना राज्य सरकार का काम है। 

ऊपर विचार करते हुए न्यायालय ने स्थायी अधिवक्ता को इस संबंध में निर्देश प्राप्त करने का आदेश दिया कि क्या राजस्थान उच्च न्यायालय के निर्णय के अनुसार उत्तर प्रदेश राज्य में कोई अधिसूचना जारी की गई है?

कोर्ट ने 16.05.2022 को मामले को सूचीबद्ध करने का निर्देश दिया है और कहा है कि अगलीतारीखतकयूपीटीईटी (प्राथमिकस्तरपरीक्षा, 2021 जो 23.01.2022 को आयोजित की गयी थी, कोउत्तीर्णकरनेवालेउम्मीदवारोंकेपक्षमेंकोईप्रमाणपत्रजारीनहींकियाजाएगाRead/Download Order

admin

Up Secondary Education Employee ,Who is working to permotion of education

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *